अविश्वास प्रस्ताव: राहुल गांधी के इन तीन हमलों से ‘तिलमिलाई’ बीजेपी

राहुल ने अपने भाषण में राफेल डील, बेरोजगारी, अमित शाह के बेटे जय शाह का मुद्दा, दलित और आदिवासियों पर हमले का मुद्दा उठाया. इस दौरान राहुल ने कई ऐसे हमले किए जब बीजेपी को नागवार गुजरे और उन्होंने जोरदार हंगामा करते हुए उनका विरोध किया.

Rahul Gandhi

नई दिल्ली: अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी और खासतौर पर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोला. राहुल गांधी के भाषण के दौरान बीजेपी लगातार हंगामा करती रही. एक बार तो सदन को आठ मिनट के लिए स्थगित भी करना पड़ा. इसके बाद जब दोबारा राहुल का भाषण शुरू हुआ उसके बाद फिर राहुल ने बीजेपी पर हमला बोला. राहुल ने अपने भाषण में राफेल डील, बेरोजगारी, अमित शाह के बेटे जय शाह का मुद्दा, दलित और आदिवासियों पर हमले का मुद्दा उठाया. इस दौरान राहुल ने कई ऐसे हमले किए जब बीजेपी को नागवार गुजरे और उन्होंने जोरदार हंगामा करते हुए उनका विरोध किया.

प्रधानमंत्री के दबाव में रक्षा मंत्री ने देश से झूठ बोला

राफेल डील पर हमला करते हुए कहा, ”हमारी यूपीए की डील में राफेल हवाई जहाज का दाम 520 करोड़ रुपये प्रति हवाई जहाज था. पता नहीं क्या हुआ किससे बात हुई, प्रधानमंत्री जी फ्रांस गए, वहां किसके साथ गए पूरा देश जानता है. इसके बाद जादू से हवाई जहाज का दाम 1600 करोड़ रुपये हो गया. रक्षा मंत्री यहां बैठीं हैं, उन्होंने पहले कहा कि मैं देश को जहाज का दाम बताउंगी. इसके बाद रक्षा मंत्री ने कहा कि मैं यह आंकड़ा नहीं दे सकती हूं क्योंकि फ्रांस की सरकार और देश की सरकार के बीच एक गोपनीय समझौता है. मैं खुद फ्रांस के राष्ट्रपति से मिला और मैंने उनसे ये पूछा कि क्या ऐसा कोई समझौता फ्रांस और भारत की सरकार में है? फ्रांस के राष्ट्रपति ने बताया कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. उन्होंने मुझे कहा कि अगर आप पूरे देश को बताते हैं तो हमें कोई ऐतराज नहीं है. प्रधानमंत्री के दबाव में आकर निर्मला सीतारमण जी ने देश से झूठ बोला है.”

जय शाह की आमदनी 16000 गुना बढ़ी, पीएम कुछ नहीं बोले

राहुल गांधी ने अमित शाह के बेटे जय शाह की आमदनी का मुद्दा उठाते हुए कहा, ”प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि मैं देश का चौकीदार हूं मगर जब अमित शाह के पुत्र जय शाह ने 16000 गुना अपनी आमदनी को बढ़ाता है तो प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता.” बता दें राहुल गांधी के इस बयान को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने रिकॉर्ड से निकाल दिया.

‘जुमला स्ट्राइक’ के जरिए पीएम को याद दिलाया रोजगार का वादा

राहुल गांधी ने कहा, ”जुमला स्ट्राइक नंबर एक, 15 लाख रुपये हर खाते में, जुमला स्ट्राइक नंबर दो- दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार युवाओं को हर साल रोजगार देने की बात कही थी. 2016-17 में पूरे हिंदुस्तान में चार लाख युवाओं को रोजगार मिला. ये मेरे आंकड़े नहीं लेबर ब्यूरो के आंकड़े हैं. हिंदुस्तान के युवा ने प्रधानमंत्री पर भरोसा किया लेकिन सच्चाई ये है कि सिर्फ चार लाख युवाओं को रोजगार मिला. आज बेरोजगारी हिंदुस्तान में साठ साल में सबसे ज्यादा है, ये है प्रधानमंत्री के शब्दों का सच. जहां भी जाते हैं रोजगार की बात करते हैं, कभी कहते हैं पकौड़े बनाओ कभी कहते हैं दुकान खोलो. लेकिन रोजगार कैसे आएगा, रोजगार छोटे दुकानदार लेकर लगाएंगे. जो दस बीस बिजनेस मैन हैं उनकी ये मदद करते हैं लेकिन जो छोटे दुकानदारों, गरीबों और किसानों के दिल में है उसके लिए इनके दिल में थोड़ी सी भी जगह नहीं है. रोजगार के पूरे सिस्टम को आपने ठोक मारी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *