जन्मदिन विशेष: शाहरुख खान के इन रोमांटिक डायलॉग्स से आप भी जीत सकते हैं किसी का भी दिल

Dear-Zindagi-Is-Nothing-Without-Shahrukh-Khan

आज बॉलीवुड के किंग ऑफ़ रोमांस शाहरुख खान का जन्मदिन है. आज शाहरुख 52 साल के हो गए हैं, लेकिन आज भी शाहरुख़ के चार्म कही से कोई कमी नहीं आई है. वो अब भी एक बाद एक उसी जोश के साथ फिल्में कर रहे हैं और आज भी उनका जादू सिल्वर स्क्रीन पर उसी तरह छाया हुआ है जैसा पहले हुआ करता था. शाहरुख ने बॉलीवुड को एक से बढ़कर एक कई फिल्में दी हैं. शाहरुख अपने अंदाज से अपनी फिल्मों को यादगार बना देते हैं. फिर चाहे उनका रोमांटिक अंदाज हो एक्शन लुक परदे पर शाहरुख ऐसा मैजिक दिखाते है फैन्स उनके दीवाने हो जाते हैं. शाहरुख अपने डायलॉग्स बोलने के अंदाज से लोगों का दिल जीत लेते हैं.

आज किंग ऑफ़ रोमांस के 52 बर्थडे पर पेश हैं उनके टॉप रोमांटिक डायलॉग्स.

फिल्म: जब तक है जान (तेरी आंखों की नमकीन मस्तियां, तेरी हंसी की बेपरवाह गुस्ताखियां, तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयां, नहीं भूलंगा मैं, जब तक है जान, जब तक है जान, तेरा हाथ से हाथ छोड़ना, तेरा सायों का रुख मोड़ना, तेरा पलट के फिर ना देखना, नहीं माफ करुंगा मैं, जब तक है जान, जब तक है जान)

Kuch Kuch Hota Hai1

 

फिल्म: कुछ कुछ होता है (प्यार दोस्ती है. अगर वो मेरी सबसे अच्छी दोस्य नहीं बन सकती तो मैं उससे कभी प्यार कर ही नहीं सकता. क्योंकि दोस्त बिना तो प्यार होता ही नहीं)

फिल्म: वीर जारा (अगर कभी भी कोई दोस्त की ज़रूरत पड़े तो बस इतना याद रखना की सरहद पार एक ऐसा शख्स है जो आप के लिए अपनी जान भी दे देगा.

फिल्म: चलते चलते (याद रखना के किसी कोने में कोई खुश है, क्योंकि तुम खुश हो)

Om Shanti Om 2007 movie

फिल्म: ओम शांति ओम (इतनी शिद्दत से मैंने तुम्हें पाने की कोशिश की है…कि हर जर्रे ने मुझे तुमसे मिलाने की साजिश की है. कहते हैं कि अगर किसी चीज को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है)

फिल्म: दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे (बड़े- बड़े शहरों में छोटी – छोटी बातें होती रहती है सेनोरिटा)

फिल्म : रब ने बना दी जोड़ी ( मैं जब भी आपको देखता हूं मुझे रब दिखता है. रब के सामने माथा टेकता हूं तो दिल को सुकून मिलता हैं. आप को हंसते हुए देखता हूं तो दिल को और भी सुकून मिलता है. तो मैं तो आपको रब से भी ज्यादा प्यार करता हूं.

kabhi khushi kabhi gam

फिल्म: कभी खुशी कभी गम (दोस्ती के अलावा भी कुछ रिश्ते होते हैं. कुछ रिश्ते जो हम समझते नहीं, कुछ रिश्ते जिन्हें हम समझना नहीं चाहते! कुछ रिश्ते जिनका कोई नाम नहीं होता, सिर्फ़ एहसास होता है. कुछ रिश्ते जिनकी कोई दीवार नहीं होती, सरहद नहीं होती. ऐसे रिश्ते जो दिल के रिश्ते होते है, प्यार के रिश्ते होते हैं, मोहब्बत के रिश्ते होते हैं.

फिल्म: मोहब्बतें (मोहब्बत भी जिंदगी की तरह होती है, हर मोड़ आसान नहीं होता, हर मोड़ पर खुशी नहीं मिलती…पर जब हम जिंदगी का साथ नहीं छोड़ते तो हम मोहब्बत का साथ क्यों छोड़े.

फिल्म: बाजीगर (कभी कभी जीतने के लिए कुछ हारना पड़ता है…और हार कर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *