इंडियन आर्मी ने 13 साल में पहली बार LoC पर चलाए तोप, तबाह की 4 चौकियाँ और मार दिए 40 पाक सैनिक

2003 में भारत-पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम हुआ था। उसके बाद सीमा तोप चलाने की पहली घटना है…

पाकिस्तान की ओर से सीजफायर वायलेशन की लगातार घटनाओं के चलते भारत ने 13 साल में पहली बार एलओसी पर तोपों का इस्तेमाल किया। पिछले महीने हुए इस कार्रवाई में पाकिस्तान की चार चौकियाँ तबाह हो गईं थी और पाक रेंजर्स के 40 सिपाही भी मारे गए थे। यह खबर एक न्यूज एजेंसी ने सरकारी सूत्रों के हवाले से दी है। सूत्र का मानना है कि भारत की ओर से ऐसी कार्रवाई सिपाही के क्षत-विक्षत शव का बदला लेने के लिए की गई थी। गौरतलब है कि भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान 99 बार सीमाशांति का उल्लंघन कर चुका है।

artillery-centre1

28 अक्टूबर को कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में भारतीय जवान मनदीप शहीद हो गए थे। गोली लगने के बाद वो एक नाले में जा गिरे थे जहाँ से आतंकियों ने उनके शव के साथ बर्बरता की। पाक आर्मी ने आतकियों को कवर फायर दिए। इसके बाद भारतीय सेना ने बदला लेने की ठानी और पाकिस्तानी चौकियों को उड़ाना शुरू कर दिया। एबीपी न्यूज ऐसी कार्रवाई की वीडियो रिकॉर्डिंग होने का भी दावा कर रहा है जो पाकिस्तानी चौकियों की तबाही की कहानी बयान कर रही है।

दिवाली से पहले खबर आई थी भारतीय सुरक्षा बालों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया जिसका BSF ने मुहंतोड़ जवाब दिया है। खबरों के अनुसार भारतीय शुर वीरों ने पड़ोसी मुल्क की 4 चौकियां पूरी तरह से तबाह कर दी है। पाकिस्तान बार्डर के अलावा नागरिक ठिकानों पर भी लगातार हमले कर रहा है। इसके मद्देनजर सरकार ने जम्मू जिले में सीमा से सटे इलाकों के 174 स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है। राजौरी में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में दो पाकिस्तानी सैनिक मारे गये। पाक की इस नापाक हरकत से सीमावर्ती क्षेत्रों में दहशत है। सीमा से सटे लगभग सभी गांव खाली हो गए हैं और हजारों लोगों ने राहत शिविरों में शरण ली है।

बीएसएफ के डीआइजी धर्मेंद्र पारिख ने कहा कि बीएसएफ से पाक सेना नहीं लड़ सकती, इसलिए वह मासूम नागरिकों को निशाना बना रही है। सेना को सेना से लड़ना चाहिए, पड़ोसी देश महिलाओं व बच्चों को निशाना बना रहा है। बीएसएफ के डीआईजी धर्मेंद्र पारीख के अनुसार सुबह लगभग साढ़े छह बजे पाकिस्तानी रेंजरों ने सांबा और जम्मू जिले के रामगढ़ और अरनिया सेक्टरों में पहले तो छोटे हथियारों से गोलीबारी की फिर 82 और 120 मिमी के मोर्टार के गोले दागने शुरू कर दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *